Type Here to Get Search Results !

झारखंड 15 साल बाद दूसरी बार होगी JET की परीक्षा।जानें पूरी विवरण।

झारखंड पात्रता परीक्षा JET
झारखंड उच्च एवं तकनीकी शिक्षा विभाग ने 15 साल बाद लेने जा रही है झारखंड पात्रता परीक्षा। उच्च एवं तकनीकी शिक्षा विभाग ने विश्वविद्यालय से मांगा नियमावली। वैसे अभ्यर्थियों के लिए बहुत अच्छी खबर है जो अपने करियर को उच्च शिक्षा के क्षेत्र में बनाने का इच्छुक हो,तथा आगे अपनी भविष्य में अपने जीवन में अच्छे मुकाम पर जाना चाहते हैं।तथा अपना सपना प्रोफेसर एवं इससे उच्च शिक्षा संस्थानों में अपनी जगह बनाने में रखते हो,तो उनके लिए उच्च एवं तकनीकी शिक्षा विभाग के द्वारा झारखंड में 15 वर्षों के बाद दूसरी बार झारखंड पात्रता परीक्षा जेट लेने की तैयारी की जा रही है । इसके लिए उच्च एवं तकनीकी शिक्षा विभाग ने राज्य के सभी विश्वविद्यालय को सिलेबस और परीक्षा से संबंधित संचालन नियमावली को बनाकर भेजने को कहा है । इसके बाद आगे की प्रक्रिया पर कार्य किया जाएगा। जेट के संबंध में रांची विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर अजीत कुमार सिन्हा की अध्यक्षता में 11 अगस्त को बैठक की योजना बनाई गई है। जिसमें जेट झारखंड पात्रता परीक्षा के संचालन के संबंध में रूपरेखा तथा रूल रेगुलेशन संबंधित विषयों पर चर्चा होगी इसके बाद उसे स्वीकृति दी जाएगी और इस परीक्षा को लेने के लिए आगे की तैयारी किया जाएगा।
इन विषयों के होगी परीक्षा
जानकारी के अनुसार 43 विषयों के लिए झारखंड पात्रता परीक्षा आयोजित की जाएगी। इस गेट परीक्षा में उत्तीर्ण हुए अभ्यर्थियों को झारखंड के विभिन्न कॉलेजों में होने वाले नियुक्ति प्रक्रिया जैसे असिस्टेंट प्रोफेसर, लेक्चरर आदि में शामिल हो सकेंगे। तथा वहीं उच्च शिक्षा के क्षेत्र में पीएचडी कोर्स में एडमिशन ले सकेंगे। जो अभी एडमिशन की प्रक्रिया है कि विश्वविद्यालय अपने स्तर से प्रवेश परीक्षा का आयोजन करवाते हैं,और इसी माध्यम से लोगों का नामांकन होता है। जो अब झारखंड पात्रता परीक्षा होने के बाद विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित प्रवेश परीक्षा आने वाले दिनों में नहीं होगी।
क्या है परीक्षा की प्रक्रिया?
झारखंड पात्रता परीक्षा जेट का आयोजन कराने के लिए रांची विश्वविद्यालय में यूनिवर्सिटी ग्रांट कमीशन (यूजीसी) की राष्ट्रीय पात्रता परीक्षा के रूपरखा पर आधारित होगी तथा अपना सिलेबस और कार्यवाहक प्रक्रिया एवं रूल रेगुलेशन का रूपरेखा तैयार कर लिया गया है। परीक्षा सीबीटी मोड में आयोजित किया जाएग।
झारखंड पात्रता परीक्षा जेट के लिए योग्यता
झारखंड झारखंड पात्रता परीक्षा जेट में शामिल होने के इच्छुक अभ्यर्थियों के लिए पोस्ट ग्रेजुएशन के परीक्षा में प्राप्त अंक के आधार पर होगा। जो वर्गों के अनुसार निर्धारित किए गए है।
आरक्षित और ईडब्ल्यू एस कोटि के लिए 55%
बीसी 01, बीसी 02, ईडब्ल्यूएस, थर्ड जेंडर, एससी, एसटी के अभ्यर्थियों के लिए 50% अंग होना अनिवार्य है।
कितने नंबर का होगा परीक्षा?
झारखंड पात्रता परीक्षा यूजीसी नेट यानी राष्ट्रीय पात्रता परीक्षा की तरह 300 अंकों की होगी। इसमें दो पेपर में परीक्षा होगी। पहला पेपर की परीक्षा में 50 प्रश्न होंगे जो 100 नंबर का होगा।तथा वहीं दूसरा पेपर की परीक्षा में 100 प्रश्न पूछे जाएंगे जो 200 अंकों के पूछे जाएंगे। सभी प्रश्न बहुवैकल्पिक होंगे।परीक्षा सीबीटी मोड यानी कंप्यूटर बेस्ड टेस्ट में होगा।
परीक्षा में नेगेटिव मार्किंग का नियम नहीं है।
झारखंड पात्रता परीक्षा में भी राष्ट्रीय पात्रता परीक्षा नेट की तरह गलत उत्तर के लिए अंक नहीं काटे जाएंगे। किसी प्रश्न में यदि त्रुटि होने के कारण प्रश्न को रद्द किया जाता है। तो इसका नंबर वैसे अभ्यर्थियों को मिलेगा जिसने प्रश्न का उत्तर देने का प्रयास किया है। जो प्रश्न का जवाब गलत हो फिर भी।बता दें कि लैंग्वेज पेपर को छोड़कर सभी विषयों के सवाल अंग्रेजी और हिंदी दोनों में पूछे जाएंगे।सही जवाब पर प्रत्येक प्रश्न में 2 अंक दिए जाएंगे ।इस प्रकार कुल 150 क्वेश्चन होंगे जो फर्स्ट पेपर में 50 तथा सेकंड में 100 क्वेश्चन होंगे। कुल 300 नंबर का होगा।
जानें जेट का पहली परीक्षा में हुए गड़बड़ी 
झारखंड पात्रता परीक्षा की पहली परीक्षा 2007 में हुई थी। जिसमें काफी बड़े पैमाने पर गड़बड़ी हुई थी। जिसका जांच अभी तक चल रही है। पहले इसकी जांच निगरानी ब्यूरो ने की, तथा अभी सीबीआई जांच कर रही है।इस गड़बड़ी से जुड़ी कई रिकॉर्ड जेपीएससी ऑफिस  से गायब हैं । जिसका जांच जारी है।अब 15 साल के बाद झारखंड में फिर दूसरी बार झारखंड पात्रता परीक्षा जेट का आयोजन किया जाएगा।

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.